सही गलत

मेरा जानकार अगर सफदरजंग जैसे किसी बड़े अस्पताल में काम करता हो और अगर मे उनसे एक डॉक्टर का अपॉइंटमेंट लेने, एडमिट होने या टेस्ट करवाने के लिए बोलता हूँ और वो मदद करने की बजाय मुझे नियम से चलने की सलाह दे तो...?

अगर मेरा कोई रिश्तेदार ट्रैफिक पुलिस में है और ट्रेफिक नियम तोड़ने हुए पकड़े जाने पर चालान से बचने के लिए में उनसे मदद मांगता हूँ और वो मुझे फिर से मदद करने की बजाय नियम से चलने की सलाह दे तो...?

या फिर मेरा कोई रिश्तेदार राजनीति में हो और किसी जुर्म से बचने के लिए में उनसे मदद माँगू और फिर नियम पर चलने की सलाह मिले तो...?

भाड़ में जाये ऐसे रिश्तेदार जो मुसीबत में काम न आए, बड़े आए सलाह देने वाले। अरे जानता तो में भी सब कुछ हूँ  कि सही क्या है और गलत क्या है, लेकिन ये सही गलत से दुनिया थोड़े चलती है। मेरे को मतलब अपने काम निकल जाने से है। इस सही या गलत से नही।

लेकिन एक बात बोल दूँ।
ये सरकारी कर्मचारी, डॉक्टर, पुलिसवाले, नेता, मंत्री इत्यादि सब के सब एक नंबर के चोर है और इस देश का कुछ नही हो सकता।

Comments

  1. शानदार अभिव्यक्ति और बेहतरीन कटाक्ष

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

MP3 (भाग - 1)

सुनने की कला