Tuesday, June 8, 2010

वास्तविकता का भविष्य

हम नेगी जी के गानों को पसंद करते हैं क्यूंकि उन्होनो गढ़वाल की उन परिस्थितयों, भावनाओं पर गाने लिखे हैं जिनको हम सब ने देखा और महसूस किया हैं इसलिएवो हम सब के चहेते हैं.
गढ़वाल और गढ़वाल के लोग धीरे धीरे बदलते जा रहे हैं साथ मैं परिस्तिथियाँ और भावनायें भी बदल रही हैं, भविष्य मैं जब ऐसी कोई परिस्तिथि और भावनाए नहीं रहेगी जो नेगी जी ने अपने गानों में पिरो रखे हैं तो क्या नयी पीडी को लगेगा की नेगी जी के गानों का वास्तविकता से कोई वास्ता नहीं हैं.

No comments:

Post a Comment